MSME की GST शिकायतों को डेली मॉनिटर करेगा CBIC, बनाएगा फीडबैक और एक्शन रूम

CBIC ने यह कदम GST आने के बाद छोटे कारोबारियों के समक्ष आ रही परेशानियों को देखते हुए उठाया है.

केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) की वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) से जुड़ी शिकायतों को दैनिक आधार पर देखेगा. सीबीआईसी ने यह कदम नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली के अमल में आने के बाद छोटे कारोबारियों के समक्ष आ रही परेशानियों को देखते हुए उठाया है.

बोर्ड की तरफ से यह कदम ऐसे समय उठाया गया है, जब सरकार ने एमएसएमई क्षेत्र की वृद्धि और विस्तार के लिए कई नई पहलें और कार्यक्रम शुरू किये हैं. सरकार ने जिन 80 जिलों में दो नवंबर को एमएसएमई के लिये 100 दिन का समर्थन और कारोबार विस्तार कार्यक्रम शुरू किया है, उन सभी में जीएसटी सहायता केन्द्र पहले ही स्थापित किए जा चुके हैं.

बनेगा फीडबैक और एक्शन रूम

एक अधिकारी ने कहा, एमएसएमई ने जो भी शिकायतें उठाई हैं उनके रिकॉर्ड और प्रक्रियाओं की जानकारी के लिए जीएसटी महानिदेशालय के तहत एक फीडबैक और एक्शन रूम (एफएआर) स्थापित करने का फैसला किया गया है.

जीएसटी सहायता डेस्क में एक नोडल अधिकारी होगा, जो छोटे उद्यमियों को उनकी जीएसटी से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए जरूरी सहायता और जानकारी देगा. यह अधिकारी उसी समय शिकायतों को एफएआर को भेजेगा और वह उन्हें समाधान उपलब्ध कराएगा.

इन उपायों की हुई घोषणा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दो नवंबर को एमएसएमई क्षेत्र के लिये कुछ उपायों की शुरुआत की है. इसमें एमएसएमई क्षेत्र को एक घंटे से भी कम समय में कर्ज उपलब्ध कराने के लिये पोर्टल, पर्यावरण संबंधी नियमों के सरल अनुपालन सहित कई अन्य उपाय शामिल हैं.

 

source: https://www.financialexpress.com/hindi/india-news/cbic-to-daily-monitor-msme-grievance-on-gst-sets-up-help-desks-to-resolve-queries/1373686/

Related Posts